मुशहरी के रजवाड़ा ढाब में अवैध खनन और शहर की सड़कों पर परिवहन का सिलसिला जारी,इलाके के कोतवाल,अंचलाधिकारी, जिला खनन पदाधिकारी सहित डीटीओ अनभिज्ञ ?

Spread the love

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के मुशहरी प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत रजवाड़ा ढाब में सुबह 06 बजे से 03 जेसीबी से मिट्टी का अवैध खनन शुरू है । करीब पांच दर्जन ट्रैक्टर रजवाड़ा की तरफ से रोहुआ होते हुए शहर की सड़कों से दौड़ रही है । अवैध मिट्टी के परिवहन में लगे अधिकांश ट्रैक्टर पर न तो नम्बर प्लेट है और न ही चालक के पास लाइसेंस ।

खनन माफियाओं से साठगांठ किसकी ?


जानकारी के मुताबिक खनन माफियाओं के साथ जिला खनन कार्यालय में पदस्थापित कर्मियों का बिचौलियों के माध्यम से दोस्ताना संबंध है । अवैध मिट्टी खनन के कारोबार से जुड़े एक व्यक्ति का कहना है कि हमलोगों के पास खनन विभाग से कोई लाइसेंस अथवा आदेश नही है । हमलोग खान साहब सेटिंग करके काम करते है ।

बिहार के सीएम का शर्मनाक बयान ?


वही स्थानीय सूत्रों का कहना है कि खनन कार्यालय में पदस्थापित एक पदाधिकारी का खुद को रिश्तेदार बताने वाला खान मिट्टी के अवैध कारोबारियों से मोटी रकम लेकर इस धंधे को संचालित करवाता है । वही जब खनन विभाग का कोई अधिकारी दबिश डालने की रणनीति बनाता है तो ल इस सूचना को अवैध मिट्टी के कारोबार से जुड़े लोगों को साझा करने में भी खान की अहम भूमिका है ।
हलाकि जिला खनन पदाधिकारी हरेश कुमार सूत्रों के हवाले मिली जानकारी से इनकार करते है लेकिन जिला खनन पदाधिकारी के द्वारा कार्रवाई से परहेज करना सह मात की खेल में महती भूमिकाओं के निर्वहन करने जैसा प्रतीत होता है । वही खानापूर्ति के नाम पर समय दर समय दो – तीन वाहनों को जप्त कर कागजी खानापूर्ति भी की जाती रही है ।

विज्ञापन


समूचे मामले में गंभीर सवाल यह है कि सरकार के स्तर पर अवैध खनन को रोकने के लिए स्थानीय स्तर पर इलाके के अंचल पदाधिकारी , थानेदार और जिला खनन पदाधिकारी को जिम्मेदारी तय की गई है ।
वावजूद अवैध खनन का धंधा धड़ल्ले से जारी है तो जिम्मेदार कौन ? सह और मात की खेल में कौन फेल,कौन पास ? इस सवाल का जवाब भी हमे तलाशना ही होगा और मामले की उच्चस्तरीय जांच कराई जाए तो खनन माफियाओं को सह देने वाले अधिकारियों की पहचान भी उजागर हो सकेगी । फिलहाल अवैध खनन को रोकने के लिए जिम्मेदार अधिकारियों को सजगता का परिचय देते हुए अवैध खनन के खेल में कानून को मात देनेवाले कारोबारियों पर शिकंजा कसन की जरूरत है ।

विज्ञापन


“अवैध खनन को रोकने के लिए बड़े स्तर पर टीम बनाकर कार्रवाई करने की जरूरत है , अगर खनन विभाग के तरफ से टीम बनाई जाती है तो हम कार्रवाई करने के लिए तैयार है” थानाध्यक्ष , मुशहरी- मुजफ्फरपुर

Please follow and like us: