ए.ई.एस कोर कमिटी की बैठक में डीएम ने कहा,स्वास्थ्य प्रबंधन में किसी प्रकार की लापरवाही और उदासीनता को नही किया जाएगा बर्दाश्त

Spread the love

खबर एक्सप्रेस बिहार न्यूज़24,मुजफ्फरपुर (बिहार) : जिला समाहरणालय सभागार में शुक्रवार को जिलाधिकारी की अध्यक्षता में अहम ए. ई.एस कोर कमिटी की बैठक आयोजित की गई । बैठक में कहा गया कि ए.ई.एस./चमकी बुखार को लेकर सतर्कता और अनुश्रवण कई स्तरों पर किया जा रहा है। अत्यधिक गर्मी की संभावना को देखते हुए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य टीम ने प्रत्येक बच्चों पर नजर रखी है। जिला पदाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने स्वास्थ्य प्रबंधन में किसी प्रकार की लापरवाही और उदासीनता को क्षम्य नहीं माना है।

उन्होंने कहा कि ए.ई.एस. या अत्यधिक बुखार की स्थिति में त्वरित रिस्पाॅस के साथ इलाज प्रारंभ की जानी चाहिए। किसी स्तर पर भी देरी या लापरवाही को कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने सख्त निदेश देते हुए कहा कि प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी प्रखण्ड स्वास्थ्य प्रबंधक एवं अन्य प्रखण्ड स्तरीय चिकित्साकर्मी अनिवार्य रूप से मुख्यालय में ही आवासन रखें। सिविल सर्जन की अनुमति से ही मुख्यालय छोड़ें। रोस्टर के अनुसार चिकित्सक अपने डयूटी पर उपस्थित रहें। सिविल सर्जन इसकी माॅनेटरिंग करेंगे। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी और प्रखण्ड स्वास्थ्य प्रबंधक, पी.एच.सी. एवं सी.एच.सी. में जाकर दवाओं एवं अन्य तकनीकी सुविधाओं की जाॅंच और सत्यापन करेंगे।

वही कन्ट्रोल रूम पूरी तरह से क्रियाशील होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कन्ट्रोल रूम में पंजी संधारित करें। उपस्थिति बनायें साथ ही ए.ई.एस. संबंधित सूचनाओं, जानकारी, दवा आदि रखें। सदर अस्पताल में कार्यरत ए.ई.एस. नियंत्रण कक्ष में टाॅल फ्री नम्बर 18003456629, 0621-2266056, 0621-2266055 पर कोई भी व्यक्ति सम्पर्क कर इससे संबंधित जानकारी और समाधान तुरंत प्राप्त कर सकता है। संध्या चैपाल के माध्यम से भी जागरूकता फैलाने का कार्य किया जा रहा है। 16 मार्च से प्रत्येक शनिवार सभी पदाधिकारी अपने निर्धारित पंचायतों में जाकर वहां कार्यक्रम करेंगे।

वही सभी 373 पंचायतों में पदाधिकारी को संबद्ध किया गया है। इसके अतिरिक्त ए.ई.एस. के नोडल डाॅक्टर सतीश कुमार ने बताया कि चिकित्सा कर्मियों और पदाधिकारियांे को इस संबंध में प्रशिक्षण दे दिया गया है। जिला पदाधिकारी ने सिविल सर्जन को पी.एच.सी. में दवा की उपलब्धता को सत्यापन कराने का निदेश दिया गया। बैठक में सिविल सर्जन, एस.के.एम.सी.एच. के डाॅक्टर, ए.ई.एस. के नोडल पदाधिकारी डाॅक्टर सतीश कुमार, डी.पी.ओ. आई.सी.डी.एस. चाॅदनी सिंह, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी दिनेश कुमार, अस्पताल उपाधीक्षक आदि उपस्थित थें।

Please follow and like us: