जिलाधिकारी ने की शहरी क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यो व सौंदर्यीकरण योजनाओ का अधिकारियों संग बैठक,दिए कई दिशा निर्देश

Spread the love

खबर एक्सप्रेस बिहार न्यूज़24, पूर्णिया ( बिहार ) : यहां के जिला पदाधिकारी कुंदन कुमार ने समाहरणालय स्थित कार्यालय वेश्म में अपर समाहर्ता ,नगर आयुक्त, नगर निगम सहित नगर क्षेत्रों से संबंधित अन्य पदाधिकारियों के साथ पूर्णिया शहरी क्षेत्र में चल रहे विकासात्मक कार्यों और सौंद्रीयकरण योजनाओं का विस्तृत समीक्षा किया। बैठक के दौरान जिला पदाधिकारी द्वारा नगर निगम के आयुक्त से पूर्व के बैठकों में दिए गए निर्देशों के अनुपालन की समीक्षा की गई। जिला पदाधिकारी के द्वारा समीक्षा के दौरान सहायक अभियंता बुडको से नल जल योजना के उपरांत सड़क मरम्मती कार्यों के बारे में पूछे जाने पर सहायक अभियंता द्वारा बताया गया कि मरम्मती का कार्य चल रहा है। इसपर जिला पदाधिकारी द्वारा असंतोष व्यक्त किया गया कि उन्हें सूचना है की लोगो को काफी परेशानी हो रही है इसलिए इसे 30 जून 2024 तक हर हालत में मरमत कराये। वही जिला पदाधिकारी द्वारा नगर आयुक्त और सभी उपस्थित पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि सभी सड़को को चिन्हित कर इंटीग्रेटेड एप्रोच तथा सैचुरेशन मोड में एक साथ सभी सड़को का कार्य कराएं ताकि आधारभूत संरचना सुचारू रूप से सब को मिले ।

वही नगर आयुक्त के द्वारा बताया गया कि 300 में से 135 सड़को का कार्य अब प्रारंभ हो जायेगा । जिला पदाधिकारी द्वारा आगामी त्योहारी सीजन से पहले सभी सड़को का मरम्मत पूर्ण करने का निर्देश दिया गया। वही जिला पदाधिकारी द्वारा नगर आयुक्त को निर्देश दिया गया कि बरसात के मौसम में आलोक शहरी क्षेत्रों में जल जमाव वाले स्थलों को चिन्हित कर जल जमाव से मुक्ति हेतु सभी कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित किया जाय। जिला पदाधिकारी द्वारा सिटी प्लानिंग ऑफिसर, नगर निगम पूर्णिया को निर्देश दिया गया कि शहरी क्षेत्रों में चल रहे सभी विकासात्मक कार्यों , स्ट्रोम ड्रेनेज तथा सभी नाला को जोड़ने हेतु एक विस्तृत प्लान तैयार करें।

जिला पदाधिकारी द्वारा टाउन प्लानर को निर्देश दिया गया कि जो स्ट्रॉम ड्रेनेज सिस्टम बन रहा है और जो एसटीपी का निर्माण कार्य हो रहा है, वो दोनो अलग अलग एजेंसियों के द्वारा किया जा रहा है अतः दोनो में समन्वय काफी आवश्यक है । आगे जिला पदाधिकारी द्वारा टाउन प्लानर को निर्देश दिया गया कि पूरे शहर का एकीकृत रूप से ड्रेनेज सिस्टम का जीआईएस मैप तैयार करें और उस जीआईएस मैप के अनुसार फेजवार योजनाओं का क्रियान्वयन किया जाय। जिला पदाधिकारी ने नालों से निकलने वाले पानी का सीवेज नेटवर्क से जोड़कर सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट से प्रोसेस करने के पश्चात ही नदी में डालने हेतु प्लान करने का निर्देश दिया गया।

जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि हम शहर की गंदगी से नदियों को प्रदूषित नही कर सकते इसलिए प्रत्येक विकासात्मक कार्य से पहले हम सभी पहलुओं पर ध्यान देना होगा और प्रदूषण मुक्त रहने पर बल देना होगा । जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि कुल चार स्तर के कार्यों से पूर्णिया शहरी क्षेत्रों का विकास किया जा सकता है। सबसे पहले शहरी क्षेत्रों में बेसिक आधारभूत संरचना का विकास सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। बेसिक आधारभूत संरचना के अंतर्गत सड़क, नाला , शौचालय की उपलब्धता , पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।जिला पदाधिकारी द्वारा नगर निगम द्वारा संचालित शौचालयों की सफाई पावर जेट से दिन में दो बार करवाने का निर्देश नगर आयुक्त , नगर निगम पूर्णिया को दिया गया।

जिला पदाधिकारी द्वारा पेय जल की उपलब्धता के संबंध में पूछे जाने पर सिटी मैनेजर के द्वारा बताया गया कि वर्तमान में तीन स्थानों पर आरओ वाटर पेयजल की उपलब्धता है । जिला पदाधिकारी द्वारा इसपर असंतोष व्यक्त करते हुए इसकी संख्या बढाने का निर्देश दिया गया। नगर आयुक्त , नगर निगम पूर्णिया के द्वारा बताया गया कि और आठ नए स्थानों पर आरओ पेयजल की आपूर्ति की उपलब्धता सुनिश्चित करने की करवाई की जा रही है । जिला पदाधिकारी द्वारा दूसरे चरण में विशेष आधारभूत संरचना के विकास के बारे में बताया गया। इसके अंतर्गत बस स्टैंड , ऑटो स्टैंड , मल्टी लेवल पार्किंग , वेंडिंग जोन में विकास की समीक्षा किया गया तथा आवश्यक निर्देश नगर आयुक्त , नगर निगम पूर्णिया को दिया गया ।

जिला पदाधिकारी द्वारा इसी क्रम में पूर्णिया शहरी क्षेत्र में उपलब्ध उद्यानों के संबंध में नगर आयुक्त से पृच्छा करने पर नगर आयुक्त के द्वारा बताया गया की शहरी क्षेत्रों में तीन बड़े उद्यान है तथा दो छोटे पार्क है । जिला पदाधिकारी द्वारा सभी पार्कों की लाइनलिस्टिंग करने तथा उपलब्ध सुविधाओं के संबध में प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश सिटी मैनेजर,नगर निगम पूर्णिया को दिया गया। जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि पूर्णिया शहरी क्षेत्र के 46 वार्डो के लिए मात्र पांच पार्क / उद्यान होने से मॉर्निंग वॉक करने वाले लोगो तथा बुजुर्गों को टहलने हेतु सड़क का उपयोग करना पड़ता है। सड़क पर मॉर्निंग वॉक करने और टहलने से दुर्घटना की संभावना बढ़ जाती है और टहलने से होने वाले स्वास्थ्य लाभ भी पूरी तरह नही मिल पाता है ।

जिला पदाधिकारी द्वारा नगर आयुक्त, नगर निगम पूर्णिया को निर्देश दिया गया कि हमें वार्डों का क्लस्टर बनाकर पार्कों की व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी तथा पार्कों का संख्या बढ़ाना पड़ेगा । जिला पदाधिकारी द्वारा दौरा नदी रिवर फ्रंट के विकास की समीक्षा की गई । समीक्षा के दौरान जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि सौर नदी में वाटर स्पोर्ट को विकसित करने का प्लान किया जा रहा है। इसके लिए स्थलीय निरीक्षण करने का निर्देश नगर आयुक्त, नगर निगम पूर्णिया को दिया गया।

जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि सौर नदी में वाटर स्पोर्ट विकसित होने से पूर्णिया तथा आस पास के जिले के लोगो को मनोरंजन हेतु साधन उपलब्ध होगा और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा । शहरी क्षेत्र के विकास के तीसरे बिंदु के रूप में जिला पदाधिकारी द्वारा स्वच्छता की समीक्षा की गई ।जिला पदाधिकारी द्वारा शहरी क्षेत्रों में पूरी तरह से साफ सफाई रखने , सभी भीड़भाड़ वाले स्थलों पर डस्टबिन लगाने का निर्देश नगर आयुक्त, नगर निगम पूर्णिया को दिया गया।जिला पदाधिकारी द्वारा सभी दुकानदारों को जागरूक करने का निर्देश दिया गया कि उनके द्वारा अपने दुकान से संबंधित कचड़ा डस्टबिन में ही रखा जाय तथा ऐसा नहीं करने वाले दुकानदारों पर जुर्माना लगाने का निर्देश दिया गया।

जिला पदाधिकारी द्वारा स्वच्छता पदाधिकारी, नगर निगम पूर्णिया को निर्देश दिया गया कि दुकानदारों तथा सड़क के किनारे व्यापार करने वाले वेंडरों को इस संबध में जागरूक करने के दिशा में जागरूकता अभियान चलाना सुनिश्चित करें।स्वच्छता अभियान के तहत शहरी आजीविका समूहों द्वारा तथा स्कूली बच्चों के द्वारा रैली, नगर निगम के द्वारा ध्वनि विस्तारक यंत्र के द्वारा प्रचार प्रसार, शहर के दुकानदारों के बीच डस्टबिन का वितरण , आजीविका समूहों के द्वारा डोर तो डोर स्वच्छता हेतु हैंडबिल का वितरण करना , प्रतिदिन अचूक रूप से कूड़ा उठाव की वायवस्था , पॉलिथिन के प्रयोग को रोकने हेतु अभियान चलाना तथा उपयोग करने पर दंड लगाने की करवाई करने का निर्देश दिया गया।

जिला पदाधिकारी द्वारा शहरी क्षेत्र में विकास के अंतिम बिंदु में आधारभूत संरचना विकास के बारे में शहर के सौंद्रीकरण के संबंध में निर्देश दिया गया। इसके अंतर्गत खाली स्थानों पर पेंटिंग, डिवाइडर के बीच सुंदर दिखाने वाले पौधों को लगाना , तथा अन्य कार्यों को करने का निर्देश दिया गया। जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि हमें पूर्णिया को ऐसा शहर बनाना है की कोई भी बाहर से आए तो अभिभूत हो जाए तथा इसकी सुंदर छवि अपने मन में लेकर जाए । जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि इसके लिए सभी को लगातार आपसी समन्वय के साथ कार्य करना होगा ।

बैठक में अपर समाहर्ता पूर्णिया, निदेशक डीआरडीए सह विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला गोपनीय शाखा पूर्णिया, नगर आयुक्त पूर्णिया, सहायक अभियंता बुडको, पुर्णिया, सिटी मैनेजर , नगर निगम पूर्णिया, सिटी प्लानर, नगर निगम पूर्णिया, स्वच्छता तथा अपशिष्ट प्रबंधन पदाधिकारी , नगर निगम पूर्णिया एवं अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।

Please follow and like us: